Monday, January 17, 2022
HomeRunningRunning tips in hindi |बेस्ट रनिंग टिप्स एंड ट्रिक्स हिंदी |

Running tips in hindi |बेस्ट रनिंग टिप्स एंड ट्रिक्स हिंदी |

Running tips in hindi

अगर आपने दौड़ना अभी शुरू किया है या फिर आप दौड़ना चाहते हैं तो आपको कुछ बातें जान लेनी होगी जिससे रनिंग के दौरान होने वाली समस्याएं पैदा ना हो या फिर समस्याएं कम हो जाए दोस्तों बहुत सारे धावक जो कि रनिंग ग्राउंड में जाते हैं लेकिन उन्हें प्रॉपर तरीका पता नहीं होता है किस तरीके से दौड़ना चाहिए। जब ऐसी कंडीशन में वे दौड़ते हैं तो जाहिर सी बात है वह अच्छे से नहीं दौड़ पाएंगे। और जब गलत तरीके से दौड़ेंगे तो बहुत सारी चोटें शरीर में आ जाती है जिसके कारण उन्हें रनिंग छोड़नी पड़ती है या फिर उनका फिर मन रनिंग के लिए नहीं होता है। तो आज की इस पोस्ट में आज को कुछ ऐसी चीजें बताओ जिन को ध्यान में रखकर अगर आप रनिंग करेंगे तो आप धीरे धीरे एक अच्छे धावक बन पाएंगे।

Running tips in hindi – दूरी तक दौड़ें या देर तक।


अगर आपने अभी नया नया दौड़ना शुरू किया है तो आपके दिमाग में यह सवाल जरूर आता होगा लंबा दौड़ना ज्यादा जरूरी है या ज्यादा टाइम तक दौड़ना ज्यादा जरूरी है किस तरीके से दौड़ें जिससे ज्यादा से ज्यादा आपको फायदा हो तो मैं आपको बताना चाहता हूं। दौड़ने के लिए सबसे पहले दो चीजों की आवश्यकता होती है।
1- स्टैमिना
2- बॉडी स्ट्रैंथ
अब यह दोनों ही चीजें एकदम से नहीं develope हो सकती हैं। इन का विकास करने के लिए हमारी बॉडी को टाइम चाहिए होता है। जब तक बॉडी सही आकार मैं नहीं ढल जाती जब तक रनिंग के दौरान जल्दी थकना और जल्दी सांस फूल जाना और बहुत सी ऐसी समस्याएं रहेंगे। जिससे आप ज्यादा दूर तक नहीं तोड़ पाएंगे। तो इसके लिए आप भले ही कितना भी स्लो दौड़े कम स्पीड में दौड़े लेकिन एक कांस्टेंट स्पीड में दौड़ते हुए एक लंबी दूरी तक दौड़ना चाहिए टाइम की फिकर नहीं करना चाहिए चाहे जितना भी टाइम क्यों ना लगता हो।


जब एक बार शरीर की मसल्स बनने लगेंगे जैसे कि आपने धावकों को देखा होगा उनके पैरों का मसल्स अलग होता है। और उनका चेस्ट उनकी एब्स सभी डिवेलप होते हैं। वो एकदम से नहीं होते हैं उनके लिए बहुत मेहनत करते हैं और जब वह डिवेलप हो जाते हैं तो वह दौड़ने में मदद करते हैं। जब पैरों के calf बन जाते हैं यह पैरों के आसपास हड्डी को मजबूती देते हैं और जब पैर मजबूत हो जाते हैं तो आप कितने ही तेज कितनी ही दूर तक दौड़े वह नहीं सकते हैं इसी तरीके से अपर बॉडी और सभी बॉडी को मजबूत करना होगा जब एक बार यह बॉडी मजबूत हो जाएगी तो फिर आप अपने टाइम को भी कम कर सकते हैं तो मैं आपको बताना चाहूंगा आपको ज्यादा से ज्यादा दूरी तक दौड़ना चाहिए बिना टाइम की परवाह किए।

यह भी पढ़ें स्टैमिना बढ़ाने वाले फूड्स


Running tips in hindi – ध्यान रखें आराम का दिन भी एक ट्रेनिंग का हिस्सा होता है।


ट्रेनिंग पीरियड के दौरान आराम करना बेहद जरूरी होता है जब हम मेहनत करते हैं दौड़ते हैं तो बहुत सारी मसल्स डैमेज होती हैं जिनको रिपेयर होने के लिए आराम देना पड़ता है। अगर यह आराम हम न दें तो muscles फिर से नहीं बन पाएंगे जिससे धीरे-धीरे हमारा शरीर कमजोर होता जाएगा। और जब ये नई मसल्स बनती हैं वह हमारी शरीर के जिस हिस्से पर मेहनत की थी वही muscles सही शेप में बनती हैं जिससे कि हमारी बॉडी को दौड़ने के लिए मददगार होती है वहीं तो हमें यह ध्यान रखना होगा कि अगर हम रनिंग करते हैं तो हफ्ते में कम से कम 2 दिनों का rest जरूर दें जिससे कि बॉडी हमारी फिर से दौड़ने के लिए तैयार हो सके।J


Running tips in hindi – ग्रुप में दौड़ें।


नए-नए दौड़ना शुरू किया है तो जहां पर आप दौड़ते हैं वहां किसी ग्रुप को ज्वाइन कर ले इससे बहुत सारे फायदे होंगे। पुराने धावकों के साथ दौड़ने से आपको मोटिवेशन मिलेगा और दूसरा उनसे आपको टिप्स मिलते रहेंगे जिससे आपकी रनिंग सरलता के साथ बिना किसी समस्या के आप दौड़ पाएंगे।


Running tips in hindi – दौड़ना को एक आदत बनायें।


अगर लंबे समय तक दौड़ना है तो रनिंग को अपनी दैनिक क्रियाओं के साथ जोड़ देना चाहिए। इसे अपनी जिंदगी का एक हिस्सा बनाकर चलना चाहिए जो काम हम हररोज करते हैं उसमें हमें किसी तरीके की कोई दिक्कत नहीं होती है। और हम उस काम के लिए मोटिवेट रहते हैं तो रनिंग को बस एक काम ना समझते हुए एक है अपने दिनचर्य का एक हिस्सा समझें। क्यों की रनिंग से बहुत सारे बेनिफिट्स होते हैं इनमें से ही एक बेनिफिट होता है की रनिंग से डोपामाइन नाम का है रसायन उत्पन्न होता है जिससे हमें खुशी का अनुभव होता है। और भी बहुत सारे फायदे हैं जिनको अगर आप जानेंगे तो आप डेफिनेटली रनिंग जरूर करेंगे।


Running tips in hindi – 10 प्रतिशत नियम का पालन करें।


दौड़ नगर अभी शुरू किया है तो एक बात ध्यान रखना अपना दौड़ने के जो माइलेज है उसको धीरे धीरे बढ़ाना चाहिए क्योंकि हमारा शरीर उसे सबसे धीरे धीरे ही उस कंडीशन में ढल पाएगा अगर आप माइलेज एकदम से बढ़ा देंगे तो क्या होगा चोटिल होने के चांसेस बढ़ जाएंगे। वहीं अगर आप धीरे-धीरे अपने माइलेज को बढ़ाएंगे तो आपको चोटिल होने के चांसेस बहुत कम होंगे कुछ अनुभव धावकों का कहना है की रनिंग को हर भी 10 परसेंट माइलेज के हिसाब से बढ़ाना चाहिए जोकि शरीर के लिए adjustable होता है।


Running tips in hindi – प्रशिक्षण का रिकॉर्ड बनायें

ये भी पढ़ें फ़ास्ट रनिंग टिप्स इन हिंदी


दौड़ना कभी भी शुरू करें उसका एक रिकॉर्ड बनाकर जरूर रखें हर हर हर महीने उसके ग्राफ की तरफ नजर रखें किस एक्सरसाइ से आपकी परफॉर्मेंस बढ़ रही है और किन चीजों से परफॉर्मेंस गिर रही है इन सभी चीजों पर नजर रखना होगा जिससे आगे की प्लानिंग की जा सके।


Running tips in hindi – अलग अलग तरीके से प्रशिक्षण करें।


दौड़ने के लिए पूरे शरीर का मजबूत होना बहुत जरूरी होता है आप जब दम तोड़ते हैं तो ना केवल हमारे पैर बल्कि हमारा पूरा शरीर उसमें सहयोग करता है। तब शरीर आगे तेजी की ओर बढ़ता है तो हमें पूरे शरीर को मजबूत करना है तो cross-training जरूर करनी चाहिए। सिर्फ रनिंग से काम नहीं चलेगा हमें शरीर के हर हिस्से के लिए एक्सरसाइज करनी चाहिए जिससे कि सभी से मजबूत हो सके और रनिंग भी इससे अच्छी होगी।


Running tips in hindi – छोटे-छोटे लक्ष्य निर्धारित करें।


Set small targets दौड़ने के लिए एक लंबा टारगेट ना रखते हुए छोटे-छोटे टारगेट्स में डिवाइड कर देना चाहिए जिस से क्या होगा कि कॉन्फिडेंस लेवल बना रहता है। जब हम एक छोटे टारगेट को छू लेते हैं। तब हमें दूसरे टारगेट की ओर जाना चाहिए और स्टार्टिंग में ज्यादा लंबे टारगेट ना रखें अगर आप ज्यादा लंबे टारगेट रखेंगे तो शरीर चोटिल हो सकता है। जिसका कारण आप रनिंग को छोड़ भी सकते हैं और आपका मनोबल भी कम हो सकता है।

यह भी पढ़ें दौड़ के समय साँस कैसे लें। how to breath properly while in running


Running tips in hindi – संतुलित भोजन खायें।


दौड़ने के लिए एक अच्छा भोजन बहुत जरूरी होता है क्योंकि अगर एक रनर अच्छी डाइट नहीं लेगा तो उसकी बॉडी जल्दी रिकवरी नहीं कर पाएगी जिसके कारण अगले कुछ दिनों के लिए रनिंग का परफॉर्मेंस गिर जाएगा। तो अगर हर रोज रनिंग करना है और अपने परफॉर्मेंस को भी बढ़ाना है तो अच्छा खाना खाना चाहिए। अच्छे खाने में कॉन्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट प्रोटीन व मिनरल्स और फैट होने चाहिए जिससे कि शरीर को अच्छा पोषण मिले और वह जल्दी ही रिकवर हो सके।


Running tips in hindi – शरीर में पानी की कमी न होने दें।


धारकों के लिए बॉडी को हाइड्रेट के रखना बहुत जरूरी होता है अगर पानी की कमी होती है तो डायरिया जैसी समस्या हो जाती है और इससे स्टैमिना भी गिरता है। इसके साथ अगर आप डिहाईड्रेशन की प्रॉब्लम में रनिंग करते हैं तो आपकी मसल्स क्रैंप होने के चांसेस भी बहुत ज्यादा होते हैं तो ऐसे ही स्थिति उत्पन्न ना हो इसके लिए अच्छी मात्रा में पानी पीना चाहिए। क्योंकि जब आप रनिंग करते हैं तो ज्यादातर पानी पसीना के रूप में बह जाता है तो उसकी भरपाई हमें करनी चाहिए जिसके लिए पानी भी पिए और साथ ही साथ जूस और जो भी खाने में तरल पदार्थ खाए।


Running tips in hindi – सही जूते के साथ दौड़ें।

ये भी पढ़ें शाकाहारी सोयाबीन सबसे सस्ता प्रोटीन सोर्स 10 रूपए में 50 ग्राम प्रोटीन


दौड़ने के बाद पैरों में जो चोटें आती हैं जैसे पैरों की एड़ी का दर्द या घुटनों का दर्द और या फिर shine splints जैसी समस्या का एक कारण सही जूते का ना होना भी हो सकता है। तो दौड़ने से पहले हमें एक अच्छे जूता जरूर लेना होगा एक अच्छे रनर के पास कम से कम 3 जोड़ी अच्छे जूते जरूर होते हैं। इनको बदल बदल कर पहनना चाहिए जिससे कि पैरों में किसी तरीके की कोई प्रॉब्लम ना हो और बिना किसी समस्या के आप रोज रनिंग कर सकें।


Running tips in hindi – नियमित दौड़ें।


अगर आपको जल्दी ही रनिंग करना सीखना है तो अपनी रेगुलेरिटी पर जरूर ध्यान देना होगा अगर आप एक दिन छोड़कर एक दिन रनिंग करते हैं तो इसी पैटर्न को आपको हमेशा फॉलो करना चाहिए। मेरे कहने का मतलब यह है कि आप अगर जितने दिनों में गैप देते हैं वह गैप हमेशा बना रहना चाहिए अगर 4 दिनों के बाद एक कैब देते हैं तो हमेशा 4 दिनों के बाद ही 1 गए थे ऐसा ना करें कभी 3 दिन कभी 2 दिन एक अभी 1 दिन बाद आप जब देते हैं। अगर आप एक रेगुलेटर के हिसाब से रनिंग करेंगे तो बहुत जल्द ही उसके अच्छे रिजल्ट आपको मिलेंगे।


Running tips in hindi – एक पेशेवर धावक की तरह रहना होगा।


अगर एक अच्छा धावक बनना है तो हमेशा दिमाग में एक बात होनी चाहिए कि आप को एक प्रोफेशनल धावक की तरह अनुसाशन मे रहना होगा अगर आप ऐसा नहीं करते हैं और आप अनुशासन को नहीं बनाते हैं तो इससे आपका परफारमेंस सबसे टॉप लेवल का नहीं मिलेगा। कभी कभी धावक सोचते हैं कि “मुझे क्या करना मैं कुछ भी खाओ कभी भी रनिंग करो कैसे भी रहो भाई मुझे तो सिर्फ दौड़ना है मैं कोई प्रोफेशनल रे थोड़ी ना हूं” ऐसा नहीं सोचना चाहिए अगर अच्छा परफॉर्म करना है थे प्रोफेशनल अंडर की तरह अनुशासन में रहना होगा.

Running tips in hindi – वार्मअप कूलडाउन जरूर करें।

ये भी पढ़ें Running shoes under 500 रुपया


दौड़ने से पहले हमेशा warm-up और दौड़ने के बाद हमेशा cool-down जरूर करना चाहिए। इससे रक्त का संचार बढ़ जाता है। मांसपेशियां लचीली हो जाती है। जब आप रनिंग करते रहेंगे तो आपको इसका फायदा जरूर समझ में आएगा वार्मअप और कूल डाउन से चोटिल होने के चांसेस बहुत कम हो जाते हैं और रनिंग काफी आसान हो जाती है।

Noblerunnerhttps://noblerunner.com
Hi guys. I am enthusiastic of running. I like to spend my time for running. So by this blog i can always contact with running. And feeling happy to solve and share my experience.
RELATED ARTICLES

7 COMMENTS

  1. I want to be develop my timing in 1600 m race but i started for running from last 2 mont is it possible to get certificate at least in national level race in 1600 m.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments