Creatine क्या है? कैसे काम करता है? जानें फायदे और नुकसान।

Creatine क्या है? कैसे काम करता है? जानें फायदे और नुकसान।

April 12, 2019 0 By Noblerunner

Creatine क्या है? कैसे काम करता है? जानें फायदे और नुकसान।

Creating एक ऐसा सप्लीमेंट है जिस पर बहुत से रिसर्च हुए और पाया गया इससे मसल्स माँस बढ़ता है। क्रेटीन से ट्रेनिंग और एक्सरसाइज की अवधि बढ़ती है। और भी बहुत सारे इससे बेनिफिट्स होते हैं। कुछ लोग मानते हैं क्रिएटिन बॉडी के लिए अनसेफ होता है लेकिन इसके लिए कोई भी सबूत नहीं पाया गया। और बहुत सारे टेस्टों में पाया गया यह creatine सप्लीमेंट पूरी तरीके से सेफ है।


आजकल खाने में न्यूट्रिएंट्स और विटामिन्स की कमी देखी जाती है। gym में जाते हैं वर्कआउट करते हैं तो इन मिनरल्स और विटामिन्स की कमी के कारण हम सही से वर्कआउट नहीं कर पाते। इसी तरह का creatine भी होता है जो workout के दौरान शरीर को एनर्जी व ताकत प्रोवाइड कराता है। और जब बॉडी में इनकी कमी होती है तो वर्कआउट ज्यादा देर तक नहीं कर पाते हैं। यह कोई स्टेरॉइड नहीं है यह हमारी बॉडी में बनने वाला एक सब्सटेंस होता है जो की पूरी तरीके से प्राकृतिक है लेकिन यह शाकाहारी भोजन में बहुत ही कम मात्रा में पाया जाता है। यह भारत है मांसाहारी उत्पादों में पाया जाता है। आज के इस आर्टिकल से हम जानेंगे सब कुछ क्रेटीन के बारे में


What Is Creatine? क्रेटीन क्या होता है?


क्रिएटिंग एक सब्सटेंस है जो कि हमारी बॉडी में के muscles cell में naturally पाया जाता है यह हमारी मसल्स में अतरिक्त शक्ति (extra energy) प्रदान करता है जिससे आप भरी बजन (heavy weight) उठा सके और high intensity एक्सरसाइज कर सके।


Creatine तीन एमिनो एसिड्स (amino acids) का मिश्रण होता है।और तीन एमिनो एसिड्स के नाम हैं-
Glycine.
Arginine
Methionine
तीनों ही केमिकल्स को लैब में कृत्रिम तरीके से बनाया जाता है। लेकिन यह स्टेरॉयड नहीं होता है और यह प्राकृतिक भी नहीं होता है। creatine आपको अतिरिक्त ऊर्जा देता है जिससे आप अधिक भार उठा सके।

इसे भी पढ़ें  Daliya nutrition | benefits of daliya in running


Creating supplement जिम जाने वाले बॉडीबिल्डर्स और एथलीटों के बीच काफी प्रसिद्ध (famous) है। क्योंकि इसके द्वारा मसल्स मास बड़ा कर सकते हैं और स्ट्रैंथ को बढ़ा सकते हैं और over all एक्सरसाइज परफॉर्मेंस भी बढ़ती है। अगर रासायनिक में बात किया जाए तो क्रिएटिंग अमीनो एसिड्स की तरह similar product जो की बॉडी produce करती है जैसे कि अमीनो एसिड glycine and arginine.


बॉडी में कितना creatine स्टोर होता है।


बहुत सारे फैक्टर्स जो कि कारण होते हैं आपकी body में कितना creatine स्टोर है। जैसे कि आप खाने में क्या लेते हैं। एक्सरसाइज कितना करते हैं। बॉडी में मसल्स कितनी है। व बॉडी का testosterone लेवल और IGF-1 क्या है।


लगभग 90% creatine आपकी बॉडी में की मसल्स फोस्फोक्रेटीन के रूप होती है। और 5% creatine किडनी ब्रेन और लीवर में स्टोर होती है।


क्रेटीन बॉडी में क्या करता है?


जब आप सप्लीमेंट लेते हैं तो आपकी बॉडी में फास्फोक्रिएटिन की मात्रा बढ़ जाती है जो कि आपकी बॉडी में ATP बढ़ाने में मदद करते हैं जिससे एनर्जी लेवल बढ़ता है. एटीपी को दूसरी भाषा में एनर्जी करंसी कहते हैं।
जब बॉडी में ज्यादा ATP होता है तो बॉडी ज्यादा अच्छे से परफॉर्म करती है। CREATINE से और भी बहुत सारे सेल्यूलर प्रोसेस होती हैं जिससे मसल स्ट्रैंथ और रिकवरी टाइम ठीक होता है।

Creatine कैसे काम करता है How Does creatine Work?

Creatine हमारे शरीर में ख़ून के जरिए मांसपेशियों में जाकर creating phosphorus ke roop mein स्टोर हो जाता है. और जब हम वर्कआउट करते हैं तो उस समय हमें एनर्जी ATP से मिलती है. ATP में तीन फास्फोरस होते हैं और workout के दौरान एक फास्फोरस हमें एनर्जी के उपयोग जाता है। और बचे हुए दो फास्फोरस अब ADP में कन्वर्ट हो गए। और यह ADP जब तक एनर्जी के रूप में नहीं यूज हो सकता जब तक इसे एक और फास्फोरस ना मिल जाए यानि की ATP न बन जाये. इसी जगह बॉडी में स्टोर क्रिएटिन का उपयोग होता है या फिर कहें क्रेटीन फास्फोरस एक फास्फोरस को ADP को दे देता है और वह ADP फिर ATP में बदल कर हमारी बॉडी में एनर्जी के रूप में उपयोग हो जाता है। तो इस तरीके से क्रिएटिन हमें अतिरिक्त ऊर्जा प्रदान करते हैं। जिससे हम हाई इंटेंसिटी वर्कआउट कर सकें और उसकी अवधि भी बढ़ जाती है।

इसे भी पढ़ें  बिना सप्लीमेंट्स के बॉडी कैसे बनायें। bodybuilding without suppliments


CREATINE enaerobic workout के लिए बहुत अच्छा होता है जिसमें आपको अधिक मात्रा में ऑक्सीजन नहीं मिल पाती है तो वहां पर ATP हमको लगातार तीन हमको लगातार ऊर्जा प्रदान करता रहता है जिसके कारण त्वरित वजन उठाने वाला जैसे काम जहां पर ऑक्सीजन नहीं मिलता। वहां पर हम अधिक Workout कर पाएंगे। वह भी बिना ऑक्सीजन के।


क्रेटीन से क्या-क्या फायदे होते हैं?

#Creatine एथलेटिक परफॉर्मेंस को कई तरीके से बड़ा सकता है। हाई इंटेंसिटी एक्सरसाइज के दौरान यह erergy का प्रमुख जरिया होता है। energy जो कि आपको डायरेक्ट मसल्स में स्टोर क्रेटिनफोस्फोरिक से मिलता है।

#Creating आपको ज्यादा मसल्स बनाने में मदद करता है।

#Creatine मसल्स में ताकत बढ़ाती है जिससे कि आप ज्यादा वेट उठा सकें। यानी कि आप single training sesson में ज्यादा वर्कआउट कर पाएंगे जिससे आपके ज्यादा व स्ट्रेंथ और मसल्स बनेगी।

#Creatine बॉडी मसल्स को सन्देश वाहन को बढ़ाता है जिससे मसल्स रिपेयर और ग्रोथ दोनों बढ़ती है।

#क्रेटीन से अनाबॉलिक हारमोंस ज्यादा रिलीज होते हैं जिससे आप कम ऑक्सीजन में भी ज्यादा अच्छा परफॉर्मेंस दे पाएंगे।

#क्रेटीन बॉडी के मसल्स में पानी को पकड़ के रखता हैं जिससे मसल्स फूली हुई और उभरी हुई लगती है।

#क्यों की आपको एनर्जी ATP से मिलती है इसलिए बॉडी में प्रोटीन ब्रेकडाउन कम होता है।

#क्रिएटिन सप्लीमेंट फास्फोरिक क्रेटीन को दिमाग में स्टोर करता है जिससे आपको न्यूरोलॉजिकली डिसीज होने की संभावना कम होती है।

कहाँ से ख़रीदे Creatine?

Creatine को आप किसी भरोसेमंद दुकान से फरीदा जहां से आपको प्रोटीन के साथ पक्का बिल मिले कथा किसी भी जिम ट्रेनर से प्रोटीन खरीदने की गलती ना करें

कौन सा क्रेटीन अच्छा होता है।


Creatine monohydrate खिलाड़ियों के लिये काफी अच्छा creatine माना जाता है। इस पर काफी रिसर्च के परिणाम अच्छे मिले। तथा यह बाजार में काफी कम कीमत में मिल जाता है।

इसे भी पढ़ें  दौड़ से पहले क्या नहीं खाना चाहिए | What should be not eat before running

क्रेटीन का लोडिंग फेस क्या होता है?


बहुत सारे लोग जो कि क्रेटीनको लोडिंग फेस से स्टार्ट करते हैं जिससे कि उनको इफेक्ट बहुत जल्दी ही मिले। तो लोडिंग फेस के लिए आपको 20 ग्राम प्रति दिन 5 से 7 दिनों तक खाना होगा। इसे एक बार में न खा कर 5 छोटे हिस्सो में लें। हर मील में 5 ग्राम क्रेटीन होना चाहिए। जिससे आप 5 से 7 दिनों के बाद ही इसका रिजल्ट देखना शुरू हो जाएगा।
जब loading phase हो जाए तो प्रतिदिन 3 से 5 ग्राम creatine लेना चाहिए। जिससे क्रिएटिन का लेवल बॉडी में मेंटेन बना रहे और उसका फायदा आपको मिलता रहे।
इस लोडिंग फेस में आपको पानी बहुत ज्यादा मात्रा में पीना होगा। तथा लोडिंग फेस में एक प्रॉब्लम और आती है उसमें पेट भी खराब हो सकता है कॉन्स्टिपेशन की समस्या हो सकती है
अब आप अगर लोडिंग फेस को चलना नहीं चाहते हैं तो second नंबर आता है जिसमें आपको 10 ग्राम क्रेटीन 7 से 10 दिनों तक 5-5 ग्राम दिन में दो बार प्रतिदिन खाना होगा जिससे आपको रिजल्ट 10 दिनों के बाद ही दिखने लगेगा।


क्रेटीन लेने का सही और सेफ तरीका क्या है?


अगर आप लोडिंग फेस को नहीं चलना चाहते हैं तो आप पहले दिन से ही 3 से 5 ग्राम क्रेटीन प्रतिदिन आप खा सकते हैं और इसका रिजल्ट 25 से 30 दिनों तक दिखने लगेगा।


क्रेटीन के साइड इफेक्ट्स क्या हैं?


क्रेटीन पर बहुत रिसर्च हुआ है 4 सालों से इसके रिसर्च के बाद में कोई भी नेगेटिव इफेक्ट नहीं पाया गया।
Creatine रिसर्च में 52 ब्लड मार्क्स को चेक किया गया जो कि 21 महीनों से creatine सप्लीमेंट ले रहे थे लेकिन कोई भी नेगेटिव इफ़ेक्ट नहीं पाया गया।
इसका कोई भी सबूत नहीं है creatine हमारे लीवर और किडनी के लिए अन हेल्थी है अगर आप एक नॉर्मल डोज लेते हैं अगर आप नॉर्मल से ज्यादा डोज लेते हैं तो भले ही समस्या आ पड़े।
ध्यान रहे अगर क्रेटीन का उपयोग कर रहे है तो पर्याप्त मात्रा में पानी पीयें। पानी की कमी होने पर मसल्स क्रेम्प हो सकती है।

Creatine क्या है? कैसे काम करता है? जानें फायदे और नुकसान।
5 (100%) 2 votes