चुकंदर से स्टैमिना बढ़ायें | beetroot for stamina

चुकंदर स्टैमिना और सहनशक्ति को बढ़ाता है।

चुकंदर सस्ता और बाजारों में आसानी से मिलने वाला फल है। जो की खून को बढ़ाकर स्टैमिना और सहनशक्ति में इजाफा करता है।
चुकंदर में विटामिन , सल्फर, क्लोरीन, आयोडीन, आयरन, विटामिन B1, B2, खनिज, सोडियम, पोटैशियम, फॉस्फोरस, कैल्शियम आदि तत्व पाए जाते है जिस से न केवल बॉडी मजबूत होती है बल्कि रोगप्रतिरोधक शक्ति भी बढ़ती है।

चुकंदर एक शक्तिशाली एंटी ऑक्सीडेंट से भरपूर फल है इसमें उपयुक्त मात्रा में नाइट्रेट होता है कई शोध बताते हैं जिन वेजिटेबल्स में नाइट्रेट की अधिकता होती है। ऐसे खाद्य को खाने पर अच्छी हेल्थ और शारीरिक क्षमता का विकास होता है नाइट्रेट को जब खाने में खाया जाता है। तो यह नाटक ऑक्साइड में बदल जाता है।

How beetroot increase Running Stamina

नाइट्रिक ऑक्साइड का लेवल जब शरीर में बढ़ जाता है तो यह रक्त प्रावाह को बढ़ाता है और साथ में फैफड़े और मांशपेशियों को मजबूत करता है। और इनके मजबूत होने से हृदय की साँस लेने की छमता भी बढ़ती है।
नाइट्रिक ऑक्साइड एक ऐसा प्रेरक है जो की ऑक्सीजन को अच्छे से उपयोग करता है। नाइट्रिक ऑक्साइड मांशपेशियों को सिग्नल भेजने का काम भी करता है। और नाइट्रिक ऑक्साइड इस बात का ध्यान रखता है कि मांशपेशियों में रक्त और ऑक्सीजन सही मात्रा में पहुच रही है या नहीं।

पहले की एक रीसर्च से यह पता चलता है कि चुकंदर खाने से खिलाडियों की खेल छमता को चुकंदर 16 प्रतिशत तक बढ़ा देता है।
चुकंदर के खाने से anaerobic क्षमता का विकास होता है। जिसमें कम ऑक्सीजन मैं भी खिलाड़ियों का परफॉर्मेंस बढ़ता है ऐसा ही एक एक्सपेरिमेंट स्विमिंग करने वालों पर किया गया जिसमें पुरुष और महिला तैराक को पहले पानी पी कर स्विमिंग की कराई गई और उसके बाद चुकंदर का जूस पी के स्विमिंग करने के लिए गए और जब चुकंदर का जूस पीकर स्विमिंग करने पर उनके स्विमिंग का टाइम बढ़ जाता है।

इससे यह ज्ञात होता है कि चुकंदर का जूस पीने से आना और वह क्षमता बढ़ती है। यानी कि जब आप हाई इंटेंसिटी वर्कआउट करते हैं। या फिर कोई ऐसा काम करते हैं जिस में ऑक्सीजन की कमी होती है। तो ऐसी स्थिति में यह जूस बहुत ही काम आता है ऐसी परिस्थिति में आप ज्यादा देर तक परफॉर्मेंस दे पाएंगे।

बीटरूट के लगातार उपयोग से क्षमता में लगातार विकास होता रहेगा और यह आपकी परफारमेंस को 20-30% तक बढ़ा सकता है और वही यह धावकों के लिए बहुत ही विशेष है क्योंकि यह रनिंग की क्षमता को भी काफी बढ़ाता है।

चुकंदर खाने के फायदे

चुकंदर कैल्शियम की पूर्ति।

एथलीट और बॉडीबिल्डिंग के लिए मजबूत हड्डियां बहुत जरूरी होती है। और यदि कैल्शियम की कमी हो जाये तो शरीर कमजोर हो जाता है। अगर कैल्शियम की कमी हो तो चुकन्दर का जूस पीना चाहिए। क्यों की इसमें मिनिरल सिलिका होता है जो की कैल्शियम की कमी को पूरा करता है।

चुकंदर श्वसन नली को करें साफ।

दौड़ने में या high intensity workout में साँस फूलने लगती है तो इसका कारण फैफड़ों में जमा बलगम भी हो सकता है। अगर ऐसा हो तो चुकन्दर का जूस पियें। इससे साँस नाली का बलगम बाहर निकल जाता है।

चुकंदर उच्चरक्तचाप को कम करता है।

चुकन्दर के उपयोग से hypertension की समस्या मैं आराम मिलता है क्योंकि चुकंदर में नाइट्रेट की अधिकता होती है जिससे यह नाइट्रेट को खाने पर यह नाइट्रिक ऑक्साइड में कन्वर्ट हो जाता है और नाइट्रिक ऑक्साइड रक्त में ऑक्सीजन की क्षमता को बढ़ाते हुए रक्त की प्रावाह की गति भी बढ़ाता है यानी कि यह ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करता है अगर ब्लड प्रेशर हाई हो तो 500 मिली चुकंदर का जूस पी ले 3 घंटे में आराम मिल जाता है यानी कि यह हाइपरटेंशन के लिए बहुत ही सस्ता इलाज है

चुकन्दर केंसर से बचाता है।

चुकन्दर में बहुत सा एंटी ऑक्सीडेंट होता है जो कि कैंसर होने की संभावना को कम करता है ऐसा ही एक केमिकल Betanin भी पाया जाता है जोकि कैंसर से बचाता है Bitanin की मदद से ब्रेस्ट और प्रोस्टेट कैंसर से बचा जा सकता है।

चुकंदर शरीर से विषैले तत्वों को निकलता है।


Beetroot मे Betaine और pectin जैसे जरूरी सब्सटेंस होते हैं। जो कि लीवर को क्लीन करते हैं तो अगर आप चुकंदर का जूस पीते हैं तो यह शरीर में toxins का लेवल को कम करते हैं। जिससे कि अगर आप रनिंग करते हैं तो यह मसल्स में जलन को कम करता है और अंदरूनी घाव को जल्दी भरता है

बैगनी कलर की सब्जियों में बहुत सारा नाइट्रेट केमिकल होता है जो कि व्यायाम की क्षमता को बढ़ाता है।


लुइस यूनिवर्सिटी की एक रिसर्च के अनुसार अगर धावक दौड़ से पहले बीटरूट का सेवन करते हैं तो वह 5 किलोमीटर की दौड़ तेजी 5% ज्यादा तेज स्पीड से दौड़ पाएंगे।
और भी ऐसी बहुत सी शोधों के अनुसार पाया गया है। चुकंदर के जूस से स्टैमिना बढ़ता है और मसल्स की कार्य क्षमता बढ़ती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *